इग्नू से एमए किया 83 वर्षीय वृद्ध ने

इग्नू से एमए किया 83 वर्षीय वृद्ध ने. नयी दिल्ली के निवासी 83 वर्षीय दिनेश चंद्र गुप्ता ने साबित कर दिया कि पढ़ने लिखने कॊ कोई उम्र नहीं होती। जिंदगी के किसी भी पड़ाव पर हार नहीं माननी चाहिए यह दिनेश चंद्र गुप्ता ने साबित कर दिया. उन्हों ने इग्नू से हिंदी साहित्य में स्नातकोत्तर उपाधी प्राप्त की है। श्री गुप्ता पत्रकारिता से जुड़े हैं और दस पुस्तकें भी लिख चुके हैं। उन्होंने बताया कि उनकी बहुओं के सहयोग से वे अपनी पढ़ाई कर सके। पूरा समाचार यहां है।


Nayi Dilli ke nivasi 83 varshiy Dinesh Chandr Gupta ne sabit kar diya ki padhane likhane kaau koee umr nahin hoti. Unhon ne ignoo se hindi sahity men snatakottar upadhi prapt kee hai. Shree Gupta patrakarita se jude hain aur das pustaken bhi likh chuke hain. unhonne bataya ki unakee bahuon ke sahayog se ve apani padhaee kar sake. poora samachar yahan hai.


One Comment

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *