आईना » हास्य » ब्लॉग हिट करने के 20 नुस्खे

ब्लॉग हिट करने के 20 नुस्खे

ब्लॉग हिट करने के 20 नुस्खे. आज पेश हैं ब्लॉग को हिट करने के आजमाये हुए नुस्खे।  चेतावनी: इन नुस्खों का प्रयोग चिट्ठाकार अपने रिस्क पर करें। किसी भी प्रकार के सामाजिक, आर्थिक, अथवा मानसिक नुकसान के लिये लेखक किसी भी प्रकार से जिम्मेदार नहीं है। आपको इन नुस्खों पर भरोसा नहीं तो लेखक को पत्र लिखें या मिलें. नाम गुप्त रखे जाने की सौ फीसद गारंटी ।


ब्लॉग हिट करने के 20 नुस्खे
1. टिप्पणी करना छोड़ें : अगर आप हर जगह यहां वहां टिप्पणी करते हैं तो सावधान। अपने आप को सर्वश्रेष्ठ समझें। आपको सब ज्ञान है। अब जब आप सर्वज्ञानी हैं तो दूसरों की अज्ञान से भरी बातें न तो आप पढ़ें और न ही टिप्पणी करें। दूसरों के ब्लॉग को पढ़ने लायक ही न मानें और यदा कदा इस बात की घोषणा भी करते रहें। इससे लोग आपको सर्वज्ञानी मानने लगेंगे और लाइन लगा कर आपके यहां हिट्स पर हीट्स मिलने लगेंगे। हमारे यहां बाबाओं और स्वामियों के यहां जो भीड़ लगती है वो तो आपने देखी ही होगी।

2. हवा बाजी करें: अपने ब्लॉग पर हवा बाजी करें। जमीन से जुड़े लोगों को आजकल पिछड़ा माना जाता है। हवाबाजी से लोग अवाक हो कर आपको देखते रह जायेंगे और आप पूरे ब्लॉगजगत का मंच लूट कर ले जायेंगे।

3. टैक्नोराटी? वो के होवे है: आपका ब्लॉग इन टोटकों से ऊपर है। आप अच्छा लिखेंगे तो आपको नारद की भी जरूरत नहीं। लोग अपने आप पढ़ने आयेंगे आपको। अरे जो आप का लिखा न पढ़े सोचिये वो अपना कितना नुकसान कर रहा है?

4. जटिल मुद्दे: जटिल से जटिल मुद्दे उठाइये। साधारण मुद्दे आप साधारण लोगों के लिखने के लिये छोड़ दें। जितना आप जटिल मुद्दों पर लिखेंगे उतनी ही आपकी और आपके चिट्ठे की महानता बढ़ेगी। इसके लिए आप हंस कथा मासिक, वसुधा, पीपुल्स डेमोक्रेसी का नियमित अध्ययन करें और लगातार टीपते रहें.

5. जटिल भाषा: अपनी भाषा को इतना जटिल रखें कि अच्छा भला पढ़ा लिखा पाठक भी हीनभावना का शिकार हो जाये। संस्कृत के शब्दों का खुल कर प्रयोग करें। चाइनीस शब्दों का प्रयोग भी कर सकते हैं। अब आप तो जानते ही हैं कि चाइना ने कितनों को हीनभावना का शिकार बनाया हुआ है। आप जितने कम लोगों की समझ में आएंगे आपको विशेष समझने वाले व्यत्क्रमानुपात में बढ़ते जाएंगे.

6.विवाद खड़े करें: अपने ब्लॉग को हिट करने का यह आम और सर्वाधिक इस्तेमाल में लाया जाने वाला नुस्खा है। अब आपको विवाद खड़े करने के कुछ नये नुस्खे लाने होंगे जैसे की सांस लेने से कैंसर हो सकता है या पानी पीने से कैंसर हो सकता है। अब यदि कोइ इस बात का प्रतिकार करे तो पलट कर उसी पर वार करें और कहें कि तुम्ही हो जिसकी वजह से हवा और पानी की यह हालत हुई है।

7. आला तबके के लिये लिखें: आम आदमी की भाषा में आम आदमी के बारे में कभी न लिखें नहीं तो आपका ब्लॉग भी आम बन कर रह जायेगा। हमेशा आला तबके को ध्यान में रख कर लिखें।

8. ललकारें: अपने पाठकों को यदा-कदा ललकारते रहें। “हिम्मत है तो मुझे झूठा साबित करें।” “हिम्मत है तो टिप्पणी करें।” “मेरा साथ देने वाला कोइ मर्द नहीं है क्या?” इस तरह के वाक्य उछालते रहें। ग़ैरों को तुच्छ साबित करें. अपनी लाइन बड़ी करने की बजाय दूसरों की लाइन छोटी करें. जगह भरती जा रही है नयी लाइनें बनाने या बढ़ाने के लिए स्पेस कहां है?

9. दुश्मन बनायें: सफल आदमी के बहुत से दुश्मन होते हैं। आप भी अपने अधिक से अधिक दुश्मन बनायें और सफल होने का अहसास प्राप्त करें।

10. अपनी दुनिया में मस्त रहें: अपनी दुनिया में मस्त रहें, दूसरे जो भी लिख रहे हैं कान न धरें। अपने आप को हाथी समझ कर सबके बीच में से निकल जायें।

11. ऑफलाइन आपने URL का विज्ञापन दें: अपने ब्लॉग का विसिटिंग कार्ड बनायें। अखबारों में विज्ञापन दें। टीवी के टिकर में चलवायें। यदि आप अख़बार या चैनल वाले किसी दोस्त को जानते हैं तो उसे ब्लॉगजगत पर लिखने के लिए कहें और पूरी स्टोरी अपने ब्लॉग पर फोकस करवाएं।

12. विवादों से बैकलिंक: विवादों में रहने से आपको बैकलिंक मिलता है। लोग जब आपकी पोस्ट के जवाब में कुछ लिखेंगे तो आपका लिंक भी देंगे। तो आप जितने विवाद खड़े करेंगे उतनी ही आपके चिट्ठे की रेटिंग बढ़ती जायेगी।

13. टिप्पणी में सवाल करें: अव्वल तो दूसरों के ब्लॉग पर जाने से बचें. यदि चले भी गए तो दूसरों के यहां जब भी टिप्पणी करें तो पहली लाईन में पोस्ट को बेकार बतायें। फिर लिखें कि आपके बस का कुछ है नहीं। और अंत में कुछ सवाल पूछें जैसे की “बड़ी बड़ी बातें कर रहे हो कभी अपने बच्चों को होमवर्क भी करवाया है।” या “तुमने कौनसे तीर मार लिये?” टाईप। इससे वो तिलमिलाएगा क्योंकि ऐसा कहने का अधिकार अब तक सिर्फ़ उसकी पत्नी को था. अब देखिये वो जवाब देने आपके ब्लॉग पर जरूर आयेगा।

14. दिन में पांच पोस्ट करें, नारद पर छा जायें: पहली से पांचवीं तक आते आते बात से पलट जायें| यानि अगर पहली पोस्ट में आपने लिखा है कि कोकाकोला पीना पूंजीवाद को बढ़ावा देता है तो पहली पोस्ट में आक्रामक तरीके से लिखें, लोगों पर हमला करें। जब माहोल गरम हो जाये तो अगली पोस्ट में थोड़ा नरम हो जायें। दिन की आखिरी पोस्ट तक आते आते सिद्ध कर दें की किस तरह कोकाकोला पीना समाजवाद को बढ़ाता है। अब पाठकों को आपस में भिड़नें दें। आपके पास अपनी पोस्टों में हर तरह के तर्क होंगे। जहां जैसा चाहें वैसा उद्धरण दिखाते हुए दूसरों को पछाड़ दें।

15. समुदाय को तोड़ो: ब्लॉगिंग सामुदायिकता की भावना से की जाये तो ज्यादा सफल होती है। आप पहले से बने समुदाय में फूट डालें और उसी से अपने लिये नया समुदाय तैयार करें। नए गुट बनाने के लिए कई ब्लॉगरों के बीच लगाई-बुझाई की बातें करें। हो सके तो व्यक्तिगत मेल करें और बाद मे बदनाम करने के लिए उसका व्यक्तिगत मेल अपने ब्लॉग पर प्रकाशित कर दें।

16. दूसरों की पोस्ट में नुस्ख निकालें: एक साप्ताहिक पोस्ट लिख कर पिछले सप्ताह के १० बेकार चिट्ठे बतायें। दूसरों के लिखे को बकवास बतायें और उनका मजाक उड़ायें।

17. भूल जायें कि पहले क्या कहा था: समय के साथ साथ आपके विचार भी बदलते रहने चाहियें। यकीन मानिये पाठकों की यादाश्त बहुत कम होती है। वो अकसर भूल जाते हैं कि किसी मुद्दे पर आपने पहले क्या विचार प्रगट किये थे। अपनी बात से पलट जायें कौन आपकी पिछली पोस्ट सर्च करेगा सोचिये भला?

18. टिप्पणियां चोरी करें: टिप्पणियां न मिलें तो चुरा कर छापें। कहीं से भी माल उड़ा कर अपने यहां टिप्पणी के रूप में छाप लें। जाने अनजाने नामों से या बेनामों के नाम से खुद टिप्पणियां करें। बेनाम घटिया टिप्पणियां कभी न मिटायें। जितनी हो सके सहानुभूती बटोरें।

19. गाली गलौच की भाषा में लिखें: ब्लॉग हिट करने का सबसे आसान तरीका। इंटेरनेट पर सबकुछ चलता है । नामर्द और हिजड़ा कहना तो आम है। आजकल चू——- गाली भी काफी डिमांड में है। आप अपनी भी कोई मजेदार गाली बना सकते हैं। इससे आप ज़मीन से जुड़े आम आदमी की श्रेणी में दिखाई पड़ते हैं।

20. शीर्षक का कमाल: अपने ब्लॉग का नाम ‘म’ से शुरू करें। या अपनी पोस्ट का शीर्षक ‘म’ से शुरू करें। एक और तरीका है कोई चरित्र बनायें ‘म’ नाम से और उसके बारे में लिखना शुरू करें। जैसे ‘क’ से शुरू होने वाले सीरियल टीवी पर बहुत हिट होते हैं वैसे ही ‘म’ से शुरू होने वाले ब्लॉग शर्तिया हिट होते हैं। अपने जीतू भाई चिट्ठा जगत में किस लिये हिट हैं? क्योंकि उनके चिट्ठे का नाम ‘मेरा पन्ना’ है। ‘मुंबई ब्लॉग’ को तो ईनाम भी मिला। आईना पर भी जब से ‘मुन्नाभाई’ के बारे में लिखना शुरू किया, आईना चल निकला।

इतना कुछ करने पर भी यदि आपका ब्लॉग न चले तो समझ लें आपके विचार ‘निशब्द’ फिल्म की तरह आज से बीस वर्ष बाद के लिये हैं, आपकी सोच को समझने वाले अभी पैदा ही नहीं हुए हैं। ब्लॉग अजर अमर है, आज अगर कोई नहीं पढ़ेगा तो बीस साल बाद आप ही का ब्लॉग सुपर हिट होने वाला है।

23 thoughts on “ब्लॉग हिट करने के 20 नुस्खे”

  1. हिन्दी में पोस्ट लेख या फिर अंग्रेजी ही हर कोई समझ सकता हूँ. इस तरह से पोस्ट करके, केवल हिन्दी के लोगों को समझ सकता हूँ. यह दूसरों के लिए उपयोगी नहीं है. यह मेरा अनुरोध है.

  2. मेहनत कभी बेकार नहीं जाती …… लगे रहिए … शायद सफलता मिल जाय ।

  3. Pingback: क्या खोजते हुए आते हैं ’आईना’ पर लोग - मजेदार समाचार

Leave a Comment